बरसात के मौसम में बकरियों

0 Comments

बकरियों में होने वाले प्रमुख रोग एवं उनके बचाव के उपाय

बरसात के मौसम में बकरियों

बरसात के मौसम में बकरियों को कुछ बीमारियों का सामना हो सकता है, खास करके अगर उनकी देखभाल सही तरीके से नहीं की जाती है। कुछ आम बीमारियाँ हैं, जो बरसात के दौरान बकरियों को प्रभावित कर सकती हैं:

१. निमोनिया (प्नेयुमोनिया): यह एक संश्लेषिक बीमारी है, जिसमें बकरियों के श्वसन तंत्र (रेस्पिरेटरी सिस्टम) प्रभावित होता है। यह सामान्य है, जब तेज़ बारिश होती है या बकरियाँ भिगने वाले स्थान में रहती हैं।

२. खुरपैर का संक्रमण (फुटरॉट): यह बीमारी बकरियों के खुरपैर (हूव्स) पर असर करती है। गंदे और भीगोए स्थानों में रहने से, खुरपैर में संक्रमण हो सकता है।

३. गंदी खूर (स्कॉल्ड): बरसात के समय, बकरियों के खुरपैर को रखने वाली जगह गीली हो सकती है, जो गर्मी और गंदगी के कारण होता है। इससे बकरियों को खुरपैर में सूजन और दर्द हो सकता है।

४. छछुंदर काटना (लेप्टोस्पिरोसिस): यह एक संक्रामक बीमारी है, जो बारिश के पानी में रहने वाले छछुंदर से होती है। अगर बकरियाँ इन्फेक्टेड पानी में चलेंगी, तो यह बीमारी उन्हें प्रभावित कर सकती है।

इन बीमारियों से बचाव के लिए कुछ उपाय हैं:

१. बकरियों के लिए सूखे स्थान बनाएं, जहाँ पानी जमा न हो सके।
२. खुरपैर की देखभाल करें और उन्हें साफ रखने का ध्यान रखें।
३. बकरियों को गर्मी और भीगोए स्थान से दूर रखें।
४. नियमित टीकाकरण कराएं, जिससे कुछ संक्रामक बीमारियों से बचा जा सके।
५. बकरियों को साफ पानी पिलाएं और उनके आहार पर ध्यान दें।

अगर आपकी बकरी में किसी बीमारी का शक है, तो तुरंत एक पशुचिकित्सक से संपर्क करना ज़रूरी है। उनका सही इलाज करवाना और उनकी देखभाल करना, उनकी सेहत को सुधारने में मदद करेगा।

बरसात के मौसम में बकरियों की सही देखभाल करने के लिए निम्नलिखित टिप्स आपकी मदद करेंगे:

1. सूखे और सुरक्षित ठिकाने का व्यवस्था करें: बकरियों को भीगे और गंदे स्थान से बचाएं। उनके लिए सूखे और सुरक्षित ठिकाने का व्यवस्था करें, जहाँ पानी जमा न हो सके।

2. खुरपैर की सफाई और देखभाल: बरसात के समय खुरपैर की देखभाल करें। खुरपैर को साफ रखने के लिए उचित सफाई करें और उन्हें गंदगी से बचाएं।

3. भोजन की देखभाल: बकरियों को अच्छा और पौष्टिक भोजन प्रदान करें। उन्हें स्वच्छ और पानी से भरा हुआ पानी पिलाएं। खुराक में कमी के लक्षणों को ध्यान से देखें और तुरंत पशु चिकित्सक की सलाह लें।

4. वैक्सीनेशन: बकरियों को नियमित वैक्सीनेशन दिलाएं, जिससे उन्हें कुछ संक्रामक बीमारियों से बचा जा सके।

5. छछुंदर के प्रति सतर्क रहें: बरसात के समय छछुंदर काटने की संभावना ज्यादा होती है। बकरियों को छछुंदर से दूर रखें और उन्हें इस तरह के जानवरों से संपर्क से बचाएं।

6. वेतनरी चेकअप: बरसात के मौसम में बकरियों को नियमित वेटनरी चेकअप करवाएं। यह सुनिश्चित करेगा कि वे स्वस्थ और बीमारियों से दूर रहें।

7. रोग प्रतिरोधक को बढ़ावा दें: बकरियों को प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए पौष्टिक आहार और सुखद ठिकाने के साथ सही देखभाल प्रदान करें।

इन देखभाल उपायों का पालन करने से आपकी बकरियों की सेहत अच्छी रहेगी और वे बरसात के मौसम की मुसीबतों से बचेंगी। यदि आपके पास किसी विशेष समस्या का सामना करना पड़ता है, तो तुरंत एक पशु चिकित्सक से संपर्क करें और उनसे सलाह लें।

 

Tags: ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Product Highlight

This first widget will style itself automatically to highlight your favorite product. Edit the styles in Customizer > Additional CSS.

Learn more